Thursday, November 15, 2018

राजसत्ता एक्सप्रेस साप्ताहिक समाचार पत्र है जो राजनीति और राजनीतिक गलियारों से अंदर की खबरें लोगों तक पहुंचाने में अलग पहचान रखता है. मनुष्य राजनीति से अलग नहीं रह सकता. सत्ता के लिए राजनीति है, तो लोककल्याण भी राजनीति से ही संभव है. लोकतंत्र में असली राजनीति तो वही है जिसका ताल्लुक वोट और कुर्सी से है और इस वाली राजनीति से ही पूरा समाज प्रभावित होता है. सपने सच होते हैं और टूटते भी हैं. हमारा मानना है कि राजनीति से दूरी नहीं बल्कि इसमें शामिल होना और इसे पूरी बारीकी से समझना जरूरी है ताकि समाज के हित में होने वाली अच्छी राजनीति को बढ़ावा मिले और व्यक्ति या चंद व्यक्तियों के समूह तक केंद्रित बुरी राजनीति को बढ़ने से रोका जा सके.

ब्रेकिंग और फ्लैश के नाम पर सूचनाओं को ठेलने की होड़ के बीच यह वेबसाइट बिलकुल अलग राह पर चलने का समर्पण है. हमारी कोशिश है समाज के हर क्षेत्र की राजनीति को आपके सामने लाने की और उसके निहितार्थ भी पेश करने की, ताकि आप राजनीति को समझे और राजनीति को सर्वजन हित की तरफ ले जाने के लिए अपनी राजनीति भी करें. ‘राजसत्ता एक्सप्रेस’ जमीनी पत्रकारों का एक समूह है, जो किसी से प्रभावित हुए बिना अपनी राह पर चलने के लिए प्रतिबद्ध है.

राजसत्ता एक्सप्रेस समाचार पत्र का स्वामित्व एवं स्वायत्ताधिकार आहाना मीडिया इनिशिएटिव्स के आधीन है. यह एक प्रोपराइटरशिप फर्म है जिसके समस्त अधिकार राजसत्ता एक्सप्रेस के सम्पादक और प्रकाशक पंकज शुक्ला के पास हैं. राजसत्ता एक्सप्रेस का उत्तराखंड संस्करण देहरादून से प्रकाशित होता है