मोदी सरकार के लिए अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर बुरी खबर, दूसरी तिमाही में जीडीपी रही 7.1 फीसदी

0

मोदी सरकार के लिए अर्थव्यवस्था के मोर्चे से बुरी खबर आई है. वित्त वर्ष 2018-2019 की दूसरी तिमाही में भारत की जीडीपी दर 7.1 फीसदी हो गई है. वहीं पहले तिमाही में यह 8.2  फीसदी दर्ज की गई. वहीं वित्त वर्ष 2017-2018 में इसी तिमाही में यह 6.3 फीसदी थी.

ये भी पढ़े : आतंकी बोला, राम मंदिर बना तो दिल्ली से काबुल तक दहला देंगे

अर्थव्यवस्था में हुई इस गिरावट का कारण जानकार डॉलर के मुकाबले रुपये के मूल्य में आई गिरावट को मान रहे है. रिपोर्ट के मुताबिक 8 कोर सेक्टरों में विकास दर धीमी हुई है. कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली जैसे सेक्टरों मे विकास दर 4.8 प्रतिशत रह गई है. जबकि साल 2017-2018 के इसी महीने में यह विकास दर 5 फीसदी थी.

ये भी पढ़े : कोच रमेश पोवार की हुई छुट्टी, महिला टीम के लिए नए कोच की तलाश शुरू

सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक निर्माण क्षेत्र में सबसे ज्यादा उछाल देखा गया है. इससे पहले साल 2017-2018 के निर्माण के क्षेत्र में विकास की दर 3.1 प्रतिशत थी जबकि इस साल यह 7.8 प्रतिशत दर्ज की गई है. मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में विकास की दर साल 2017-2018 के मुकाबले बढ़ी है. इस बार यह आकड़ा 7.8 रहा जबक पिछले साल यह आंकड़ा 7.1 प्रतिशत था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here