सीएम त्रिवेंद्र की भाभी ने नहीं मानी देवर की बात, निर्दलीय ठोकी ताल

0

देहरादून: सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत की भाभी कांति रावत ने बीजेपी के खिलाफ बगावत का बिगुल बजा दिया है. कांति रावत ने नवगठित सतपुली नगर पंचायत अध्यक्ष पद के लिए निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल कर सबकोचौंका दिया है. कांति रावत भाजपा प्रत्याशी एवं सीएम के पुराने साथी वेदप्रकाश वर्मा की पत्नी अंजना वर्मा के खिलाफ मैदान में उतरी हैं. अब सतपुली नगर पंचायत के अध्यक्ष पद का चुनाव स्वयं सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के लिए भी प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया है.

ये भी पढ़ें- कौन हैं वो महिलाएं जो सबरीमाला में घुसने की कर रही हैं कोशिश

मुख्यमंत्री ने अपने गृहक्षेत्र की इस नवगठित नगर पंचायत के अध्यक्ष पद पर अपने पुराने साथी वेदप्रकाश वर्मा की पत्नी अंजना वर्मा को भाजपा प्रत्याशी घोषित किया है. वहीं, सीएम के बड़े भाई जगपाल सिंह रावत की पत्नी कांति रावत ने मंगलवार को निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन का पर्चा दाखिल कर सीएम के सामने ही चुनौती पेश कर दी. गौरतलब है कि कांति रावत पूर्व में ग्राम पंचायत सतपुली की प्रधान रह चुकी हैं. वह लंबे समय से नगर पंचायत अध्यक्ष पद के लिए तैयारियों में जुटी थीं. सीएम के वीटो के खिलाफ जाने पर उनके बड़े भाई जगपाल रावत व भाभी कांति रावत का कहना है कि उनकी निष्ठा वैचारिक रूप से हमेशा कांग्रेस के प्रति रही है. भाजपा की वह हमेशा खिलाफत करते आए हैं. बहरहाल, सीएम देवर की पार्टी के खिलाफ भाभी के चुनाव मैदान में उतरने से सियासी हलकों में चर्चाओं का बाजार गर्म है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here