ससुर ने राम के कारसेवकों पर चलवाई थी गोली, बहु ने छेड़ी राम धुन

0

बाबरी मस्जिद गिरवाने और राम की कारसेवा करने गए लोगों पर गोली चलवाने ने वाले समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव पार्टी लाइन से अलग सियासत करने में जुटी हैं। मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने राम मंदिर को लेकर बयान देते हुए कहा है कि मंदिर का निर्माण अयोध्या में ही होना चाहिए। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उनको सुप्रीम कोर्ट में पूरा भरोसा है।

रामायण में भी है राममंदिर का जिक्रः अपर्णा

बाराबंकी के देवा मेले में पहुंची अपर्णा ने कहा कि रामायण में लिखा है कि अयोध्या राम की जन्मभूमि है, इसलिए वहां राम मंदिर बनना चाहिए। अपर्णा से जब ये सवाल किया गया कि इसका मतलब है वो बीजेपी के साथ हैं तो उन्होंने कहा कि अगर वह अयोध्या में राम मंदिर बनने का समर्थन कर रही हैं तो इसका मतलब यह कतई नहीं है कि वह बीजेपी के साथ हैं, वह राम के साथ हैं।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से लड़ेंगी चुनाव

मुलायम की छोटी बहू का सियासी बयान देना और सियासत में उनकी रुचि हमेशा से ही रही है। बीते विधानसभा चुनाव में उन्होंने सपा के टिकट से लखनऊ कैंट से दावेदारी थी। लेकिन हार हाथ लगी थी। वहीं अब वो चुनाव नई नवेली पार्टी यानि चाचा की प्रगतिशील समाजवादी पार्ट से चुनाव लड़ने की तैयारी में है। अपर्णा ने कहा कि वो नेता जी और चाचा मुलायम सिंह के साथ है। ऐसे में वो चाचा की पार्टी के टिकट पर ही चुनाव लड़ेंगी।

बीजेपी के लिए रहा है सॉफ्ट कॉर्नर

ये पहला मौका नहीं है जब पार्टी विचारधारा से अलग अपर्णा ने बयान दिया हो। इससे पहले अपर्णा ने ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर बीजेपी और सुप्रीम कोर्ट के फैसले को सही बताया था। साथ ही केंद्र सरकार की तारीफ भी की थी। बीजेपी की तरफ उनका झुकाव या सॉफ्ट कॉर्नर शुरु से रहा है। अपर्णा ने की बार पीएम मोदी की तारीफ की है। साथ ही जब वो  अखिलेश सरकार में गौशाला फंड मामले में फंसती जा रही थीं। तब उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकत की थी। साथ ही अपने गौशाला में उनको विजिट के लिए भी बुलाया था।

मोदी की कर चुकी  हैं तारीफ

समाजवादी परिवार की राजनीति सेक्युलर और साम्प्रदायिक ताकतों के खिलाफ लड़ने की रही है। लेकिन अपर्णा पीएम मोदी की फैन रही हैं। बात चाहे तेजप्रताप की शादी में सेल्फी खिंचवाने की हो, या फिर तीन तलाक के मुद्दे पर पीएम की तारीफ की। सफाई अभियान को लेकर भी उन्होने कहा था कि लोगों का भरोसा पीएम पर बहुत ज्यादा बढ़ा है, तभी तो जब मोदी जी ने झाड़ू उठाई, तो पूरे देश में अभियान छिड़ गया, वो सभी के रोल मॉडल बन गये क्योंकि वो जो कहते हैं, वो उसे करते भी हैं। इस दौरान अपर्णा ने समाजवादी पार्टी की प्रदेश सरकार और अपने जेठ पर ही निशाना साधा था। प्रदेश की सपा सरकार को ‘भोकाल सरकार’ के तमगे से नवाजने वाली अपर्णा ने कहा कि सपा सरकार को देश के पीएम मोदी से कुछ सबक लेना चाहिए। अफसोस सपा सरकार ऐसा नहीं कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here