ये मेरे जीवन का सबसे काला दिन, भगवान शक्ति दे- मिताली

0

मिताली ने पहले पोवार पर आरोप लगाया था कि वह उन्हें बर्बाद करना चाहते थे, जबकि कोच ने टी-20 विश्व कप पर अपनी रिपोर्ट में टूर्नामेंट के दौरान उनके रवैये पर सवाल उठाए थे.

टी-20 विश्व कप में  कोच रमेश पोवार के आरोपों पर जवाब देते हुए सीनियर क्रिकेटर मिताली राज ने कहा ,‘यह मेरे जीवन का सबसे काला दिन है.’ मिताली ने पहले पोवार पर आरोप लगाया था कि वह उन्हें बर्बाद करना चाहते थे, जबकि कोच ने टी-20 विश्व कप पर अपनी रिपोर्ट में टूर्नामेंट के दौरान उनके रवैये पर सवाल उठाए.

उन्होंने कहा ,‘आज मेरी देशभक्ति पर संदेह किया जा रहा है, मेरे हुनर पर सवाल उठाए जा रहे हैं और मुझ पर कीचड़ उछाला जा रहा है. यह मेरे जीवन का सबसे काला दिन है. ईश्वर मुझे शक्ति दे.

ये भी पढ़ें: मिताली राज ने कोच रमेश पोवार पर लगाया अपमानित करने का आरोप

क्या था विवाद

भारत को सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने हराया और उसी मैच में मिताली को बाहर किए जाने पर विवाद उठा था. मिताली ने पोवार के आरोपों पर अपने ट्विटर पेज पर लिखा,‘ मैं इन आरोपों से बहुत दुखी और आहत हूं. खेल के प्रति मेरी प्रतिबद्धता और देश के लिए 20 साल खेलने के दौरान मेरी मेहनत, पसीना सब बेकार गया.’

मिताली लगाई ये आरोप

मिताली और कोच के बीच के इस विवाद ने भारतीय महिला क्रिकेट को झकझोर दिया है. मिताली ने पहले पोवार को प्रशासकों की समिति की सदस्य डायना एडुलजी पर पक्षपात का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि डायना ने उनके खिलाफ अपने पद का दुरुपयोग किया, जबकि पोवार ने उन्हें अपमानित किया.

ये भी पढ़ें: हॉकी विश्व कप 2018 का शानदार उद्घाटन, माधुरी, शाहरुख, रहमान ने बांधा शमां

रमेश पोवार का बयान

दूसरी ओर पोवार ने अपनी दस पन्ने की रिपोर्ट में विस्तार से जानकारी दी है. इनमें से पांच पन्नों में मिताली के बारे में लिखते हुए उन्होंने कहा कि उसने पारी की शुरुआत करने का मौका नहीं दिए जाने पर दौरा बीच में छोड़ने की धमकी दी थी. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि वह टीम के लिए नहीं, बल्कि निजी रिकॉर्ड के लिए खेलती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here