कल लॉन्च किया जाएगा, भारत का सबसे वजनी सैटेलाइट GSAT-11, ये है खासियत

0

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी (ISRO) द्वारा बनाए गए अब तक का “सबसे अधिक वजनी सेटेलाइट जीसैट-11” का 5 दिसंबर को फ्रेंच गुआना के एरियानेस्पेस के ‘एरियाने-5 रॉकेट’ से लॉन्चिंग किया जाएगा. इसरो द्वारा बनाए सबसे अधिक वजनी उपग्रह जी सैट-11 का 5 दिसंबर को फ्रेंच गुआना के एरियाने स्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से प्रक्षेपण किया जाएगा.

 

ये भी पढ़ें: अंतरराष्ट्रीय सीमा पर मुसलमानों की बढ़ती आबादी से BSF चिंतित

अब तक का सबसे वजनी सेटेलाइट

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने बताया कि करीब 5,854 किलोग्राम वजन का जीसैट-11 देश भर में ब्रॉड बैंड सेवाएं उपवब्ध कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा. यह इसरो का बनाया अब तक का सबसे अधिक वजन वाला उपग्रह है. जीसैट-11 अगली पीढ़ी का हाई थ्रुपुट संचार वाला उपग्रह है और इसका जीवन काल 15 साल से अधिक का है. इसे पहले 25 मई को प्रक्षेपित किया जाना था. लेकिन इसरो ने अतिरिक्त तकनीकी जांच का हवाला देते हुए इसके प्रक्षेपण का कार्यक्रम बदल दिया था.

ये भी पढ़ें: इटली में बनकर हुई तैयार विश्व की सबसे बड़ी गीता

शुरुआत में उपग्रह भू-समतुल्यकालिक स्थानांतरण कक्षा में ले जाया जाएगा और उसके बाद उसे भू-स्थैतिक कक्षा में स्थापित किया जाएगा. एरियाने-5 रॉकेट जीसैट-11 के साथ कोरिया एयरो स्पेस अनुसंधान (KARI)  के लिए जियो-कोम्पसैट-2ए उपग्रह भी लेकर जाएगा. यह उपग्रह मौसम विज्ञान से संबंधित है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here