हाईपावर ड्रामे के बाद बीजेपी नेता प्रियंका शर्मा को मिली रिहाई

बीजेपी नेता प्रियंका शर्मा को बुधवार की सुबह जेल से रिहा कर दिया गया। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी का मीम बनाकर विवादों में आईं प्रियंका की रिहाई में भी हाईपावर ड्रामा दिखाई दिया। हालांकि अब उन्होंने इस मामले को अपनी जंग बना लिया है।

बीजेपी नेता प्रियंका शर्मा की रिहाई के मिनट्स

बीजेपी नेता प्रियंका शर्मा के वकील ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि उनकी मुवक्किल को अभी तक रिहा नहीं किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर प्रियंका शर्मा को रिहा नहीं किया गया है, तो यह कोर्ट की अवमानना होगी, जिसके लिए नोटिस जारी की जाएगी। प्रियंका को तत्काल रिहा किया जाए।

सरकारी वकील ने कहा कि प्रियंका शर्मा को बुधवार सुबह 9 बजकर 40 मिनट पर रिहा कर दिया गया है।

प्रियंका शर्मा के वकील एनके कौल ने कोर्ट में दावा किया कि प्रियंका को छोड़ दिया गया है लेकिन इससे पहले पुलिस ने अपने बनाए माफीनामे पर उनके साइन कराने के लिए दबाव बनाया। इस माफीनामे में लिखा है कि वह अपने कृत्य के लिए खेद जताती हैं और आगे से ऐसा कभी नहीं करने का विश्वास दिलाती हैं।

पुलिस के खिलाफ बीजेपी महिला नेता की शिकायत पर सुप्रीम कोर्ट ने जुलाई के पहले हफ्ते में सुनवाई करने का फैसला सुनाया है।

सुप्रीम कोर्ट ने प्रियंका शर्मा की रिहाई में देरी पर पश्चिम बंगाल सरकार को फटकार लगाई है।

वरिष्ठा वकील एनके कौल ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बावजूद प्रियंका को 24 घंटे से ज्यादा वक्त जेल में रखा गया। इस बात की भी पुष्टि की जानी चाहिए कि उन्हें सुबह 9 बजकर 40 मिनट से 10 बजे के बीच छोड़ा गया या नहीं। साथ ही पुलिस ने जिस माफीनामे पर प्रियंका के साइन लिए, वह भी देखने होंगे।’

प्रियंका शर्मा की मां ने कहा कि कोर्ट में सरकारी वकील ने बताया कि उनकी बेटी को 9 बजकर 40 मिनट पर छोड़ दिया गया, लेकिन अभी तक वह मेरे पास नहीं पहुंच पाई है। उसे अलीपुर सुधार गृह में रखा गया है। मैं भी वहीं जा रही हूं।

इस बीच खबर आई कि प्रियंका को पुलिस ने सुधार गृह से भी छोड़ दिया है। वह स्थानीय बीजेपी कार्यालय पहुंच चुकी हैं।

पुलिस की गिरफ्त से रिहा होने के बाद प्रियंका ने कहा कि मेरी रिहाई की मांग मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार की थी, लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने मुझे 18 घंटे तक कैद में रखा। उन्होंने मुझे अपने परिवार और वकील से नहीं मिलने दिया। साथ ही जबरन माफीनामे पर दस्तखत करवाए। मैं इस मामले में अपनी जंग जारी रखूंगी और कभी भी माफी नहीं मांगूंगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here