12 दिसंबर से बैंक बंद कर देगी ये सुविधा

0

अगर आप बैंक की सुविधाओं का इस्तेमाल करते हैं तो ये खबर आपके लिए है. देश की सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 12 दिसंबर से नॉन सीटीएस चेक स्वीकार नहीं करेगा. यदि आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कस्टमर हैं और बिना सीटीएस वाले चेक इस्तेमाल कर रहे हैं, तो जल्द चेक बुक बदल लीजिए. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने यह निर्देश तीन महीने पहले दिया. बैंक इसके लिए ग्राहकों को मेसेज भेजना शुरू कर दिया है. मैसेज में ग्राहकों से चेक बुक सरेंडर करने और नई चेक बुक जारी करने के लिए अपील की गई है. इसके साथ देश के तमाम बैंक एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, बैंक ऑफ बड़ौदा, पंजाब नेशनल बैंक जैसे सभी बैंक 1 जनवरी से नॉन सीटीएस चेक को पूरी तरह बंद करने जा रहे हैं.

क्या है नॉन CTS चेक

चेक ट्रंकेशन सिस्टम (CTS) . इस सिस्टम के तहत चेकी की एक इलेक्ट्रानिक इमेज कैप्चर ह जाती है और फिजिकल चेक को एक बैंक से दूसरे बैंक में क्लियरेंस के लिए भेजने की जरूरत नहीं होती. एक प्रकार से सब कुछ ऑनलाइन हो जाता है. इससे फिजिकल चेक्स को मैनेज करने, उन्हें एक जगह से दूसरी जगह भेजने का झंझट खत्म हो जाता है. इसके साथ इस पर आने वाले खर्च और चेक क्लियरेंस में लगने वाले टाइम की भी बचत होती है. वहीं नॉन – सीटीएस चेक कंप्यूटर द्वारा रीड नहीं किए जा सकते. इसलिए उन्हें फिजिकली ही एक जगह से दूसरी जगह क्लियरेंस के लिए भेजना होता हैं. और क्लियरेंस के लिए वक्त भी ज्यादा लगता है. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया बैंको को पहले ही यह निर्देश भी दे चुका है कि वे केवल CTS-2010 स्टैंडर्ड वाली चेक बुक्स ही जारी करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here