मोदी vs राहुल: नक्सलियों के गढ़ में पीएम मोदी, राहुल भी करेंगे रोड शो

0

सभी राजनीतिक पार्टियों ने छत्तीसगढ़ में हो रहे विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. वहीं शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी नक्सल प्रभावित बस्तर में चुनाव प्रचार करेंगे. छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव में मतदान 2 चरणों में होगा, जिसमें पहले चरण में 12 नवंबर और दूसरे चरण में 20 नवंबर को मतदान होगा. पीएम मोदी के साथ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह भी मौजूद रहेंगे.

ये है पीएम मोदी का कार्यक्रम

पीएम मोदी पहली बार चुनाव प्रचार के लिए छत्तीसगढ़ आ रहे हैं. बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं से मिली जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी शुक्रवार 9 नवंबर को छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए आएंगे. 11 बजकर 20 मिनट पर मोदी रायपुर विमानतल पहुंचेंगे, जिसके बाद वो हेलाकॉप्टर द्वारा रायपुर से जगदलपुर रवाना होंगे. वहीं 2 बजकर 5 मिनट पर आम सभा के बाद पीएम मोदी जगदलपुर से प्रस्थान करेंगे और 3 बजकर 25 मिनट पर रायपुर पहुंचकर 3:30 बजे दिल्ली के लिए उडान भरेंगे.

ये भी पढ़ें: Bhai Dooj 2018: इस दिन ये काम भूलकर भी ना करें

राहुल का दो दिन का दौरा

शुक्रवार और शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी छत्तीसगढ़ दौरे पर रहेंगे. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने बाताया कि राहुल शुक्रवार सुबह 11 बजे नियमित विमान से रायपुर पहुंचेंगे. इसके बाद वो पखांजुर में दोपहर 12 से 1 बजे तक आम सभा को संबोधित करेंगे. वहीं दोपहर 2 से 3 बजे तक खैरागढ़ में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे. डोंगरगढ़ में राहुल साढ़े तीन से शाम 4 बजे तक चुनावी सभा को संबोधित करेंगे. इसके बाद शाम 5 से साढ़े छ: बजे तक रोड शो करेंगे. राहुल रात को गांधी राजनांदगांव में रुकेंगे. वहीं शनिवार को कांकेर जिले के चारामा में दोपहर 12 बजे से 1 बजे तक आमसभा को संबोधित करेंगे. वहीं राहुल दोपहर 2 बजकर 15 मिनट से 3 बजे तक कोंडागांव में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे. वहीं जगदलपुर में दोपहर 3:45 से शाम 4:45 बजे तक पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक लेंगे और बाद में नियमित विमान से दिल्ली के लिए रवाना होंगे.

कुछ ऐसा है छत्तीसगढ़ में आंकड़ों का खेल

छत्तीसगढ़ में पिछले 15 सालों से बीजेपी सत्ता पर काबिज है और इस बार भी 65 सीटों पर जीत दर्ज करके चौथी बार सरकार बनाने का भरसक प्रयास कर रही है, लेकिन कांग्रेस ने भी इस बार अपनी पूरीत ताकत लगा दी है क्योंकि उन्हें भी सत्ता कुर्सी पास दिखाई दे रही है. साल 2013 में हुए विधानसभा चुनाव पर नजर दौड़ाए तो 90 सीटों में से बीजेपी ने 49 और कांग्रेस 39 सीटों पर ही जीत दर्ज कर पाई थी. वहीं बसपा और निर्दलीय उम्मीदवार की झोली में 1-1 सीट गई थी. पहले चरण में बस्तर के 7 जिले और राजनांदगांव जिले की 18 सीटों पर वोटिंग होनी है, जिनमें से 12 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए और 1 सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here