लखनऊ: भाजपा नेता की चाकू गोदकर हत्या, पत्नी ने नामजद रिपोर्ट लिखवाई

0

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के नेता प्रत्युष मणि त्रिपाठी की अज्ञात हमलावरों ने सोमवार को चाकू गोदकर हत्या कर दी. सोमवार को बीजेपी नेता प्रत्यूष मणि त्रिपाठी पर बादशाहनगर में हमला किया गया. वहीं पुलिस के मुताबिक, नेता प्रत्यूष को किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्राम सेंटर ले जाया गया. जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

समर्थकों का प्रदर्शन

वहीं आधी रात को अस्पताल के बाहर नेता प्रत्यूष के जुटे समर्थकों ने अस्पताल के बाहर प्रदर्शन किया. समर्थकों ने पुलिस के विरोध में नारेबाजी की और लखनऊ पुलिस के वरिष्ठ अधीक्षक कलानिधि नैथानी की तुरंत बर्खास्तगी की मांग भी की. वहीं उग्र भीड़ ने आरोप लगाया कि जिला पुलिस प्रमुख को त्रिपाठी ने बताया था कि उन्हें जान से मारने की धमकियां दी जा रही है. साथ ही उन्होंने सुरक्षा की मांग भी की थी, लेकिन उनके इस आग्रह पर कोई ध्यान नहीं दिया गया.

ये भी पढ़ें: बुलंदशहर: इंस्पेक्टर सुबोध को दी गई सलामी, पुलिस ने 2 लोगों को किया गिरफ्तार

पत्नी ने नामजद तहरीर दी

वहीं बीजेपी नेता प्रत्यूष मणि त्रिपाठी की पत्नी प्रतिमा त्रिपाठी ने इस मामले को लेकर नामजद तहरीर दी है. उन्होंने अपनी तहरीर में कहा कि उनके पति की 3 नवंबर 2018 को रात 11 बजे नृशंश हत्या कर दी गई. इससे पहले भी उनके घर पर 25 नवंबर 2018 को सलमान, शीबू, अदनान, ध्रुव वर्मा और रोहित सिंह ने अपने 20 से 25 साथियों के साथ उनके घर में घुसकर महिलाओं के साथ गाली गलौज व मारपीट की थी और उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी. जिसकी प्रथामिकी कैसरबाग कोतवाली में दर्ज है. वहीं उन्होंने अपनी तहरीर मे कहा है कि इसके बाद उनके पति काफी डरे हुए थे.

इसके बाद 3 दिसंबर को रात 11 बजे बादशाहनगर स्टेशन के पास स्थित पेट्रोल पंप के सामने चाकुओं से हमला कर दिया, जिसमें उन्हें गंभीर चोट आई और उन्हें इलाज के लिए ट्रामा सेंटर ले जाया गया जहां उनकी मुत्यु हो गई. साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि उनके पति ने इस दौरान उन्हें बताया कि सलमान, शीबू, अदनान, ध्रुव वर्मा और रोहित सिंह ने अपने 20-25 साथियों के साथ मेरे उपर कैसरबाग में लिखाए गए मुकदमें की दुश्मनी मानते हुए चाकू से हमला कर दिया. पत्नी प्रतिमा ने कहा कि मेरे परिवार की आजीवन सुरक्षा हेतु शसस्त्र सुरक्षाकर्मी दिए जाए. साथ ही उन्होंने दोषियों को कठोर दंड देने की मांग की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here