Saturday, November 17, 2018

जब लेखक खुशवंत सिंह को आए एक फोन कॉल ने हैदराबाद का करा दिया भारत में विलय

विश्वजीत भट्टाचार्यः खुशवंत सिंह मशहूर पत्रकार और लेखक थे। पत्रकार बनने से पहले खुशवंत ने लंदन में भारत के हाई कमीशन में भी काम...

राजीव गांधी : सियासत का नौसिखिया आखिर में बन बैठा पूरा नेता

नई दिल्ली: मां की ह्त्या के बाद सहानुभूति लहर पर सवार होकर प्रधानमंत्री बने राजीव गांधी सियासत में नौसिखिये ही थे। ना वो राजनीति में...

शायद वाजपेयी के अंतिम संस्कार के लिए सिद्धू का रुकना जरूरी था

नई दिल्ली: वैसे तो यह नवजोत सिंह सिद्धू का व्यक्तिगत फैसला है मगर अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम संस्कार के नाम पर अपनी पाकिस्तान...

क्या अटल ने इंदिरा गांधी को ‘दुर्गा’ कहा था? सुनिए खुद क्या बोले थे वो 

नई दिल्ली।  पूर्व प्रधानमन्त्री अटल बिहारी वाजपेयी के लोकतांत्रिक व्यक्तित्व में विपक्षियों से उनके रिश्तों का खूब जिक्र होता रहा है. इस कड़ी में उल्लेख...

भाजपा की वो बैठक जिसमें मोदी के खिलाफ खड़े थे अटल

आज देश के प्रधानमंत्री मोदी समेत भाजपा के सभी दिग्गज और आम नेता अटल बिहारी वाजपेयी के जाने के शोक में डूबे है. वो...

आखिर क्यों अटल का नेतृत्व स्वीकार किया आडवाणी ने, पूरी कहानी उन्हीं की जुबानी

 नई दिल्ली: यदि मुझे ऐसे किसी एक व्यक्ति का नाम लेना हो, जो प्रारंभ से अब तक मेरे पूरे राजनीतिक जीवन का अंतरंग हिस्सा...

जब अटल बिहारी वाजपेयी ने मोदी को याद दिलाया था राजधर्म

16 अगस्त, नई दिल्ली: 2002 गुजरात दंगों के बाद का समय था जब देशभर में भाजपा सरकार की किरकिरी हो रही थी. गुजरात सरकार पर...

हिंदुस्तान की सियासत का महाकाव्य हैं ‘वाजपेयी’

नई दिल्ली: हिंदुस्तान की सियासत का एक महाकाव्य हैं अटल बिहारी वाजपेयी. इस चेहरे में हिंदुस्तान की सियासत का कई दशकों का इतिहास सिमटा...

आज मोदी के सामने बेटे को बचाया तो इंदिरा के वक़्त बाप को मजबूत किया था कैराना ने

सियासी कहानी: नरेंद्र मोदी और अमित शाह वाली बीजेपी से निपटना है तो सबकुछ ताक पे रखकर एक होना पड़ेगा. दूसरा कोई रास्ता है...

जब इंदिरा गांधी का सावरकर प्रेम गले की हड्डी बना सोनिया की कांग्रेस के लिए

नई दिल्ली:  बात साल 2002 के दिसंबर की पांच तारीख की है। मौक़ा था संसद परिसर में महापुरुषों के चित्रों-मूर्तियों की स्थापना को लेकर...

बड़ी खबरें

सियासत