बुलंदशहर हिंसा – जीतू फौजी के भाई ने सीएम योगी से लगाई गुहार बोला, हमारी सहायता करें

0

बुलंदशहर: बुलंदशहर हिंसा मामले में आरोपी जीतू फौजी के भाई ने उसका बचाव  किया है. धर्मेंद्र मलिक ने अपने भाई का बचाव करते हुए कहा कि मेरे भाई को इसमें फंसाया जा रहा है. उन्होंने कह कि वो निर्दोष है. साथ ही उनके पास इस बात के भी सबूत है कि घटना वाली जगह पर वो मौजूद नहीं था.

इससे पहले सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने जितेंद्र मलिक के मुद्दे पर उत्तर प्रदेश पुलिस का सहयोग करने की बात कही है. उन्होंने कहा कि अगर कोई सबूत मिलेगा तो पुलिस उन्हें संदिग्ध मानेगी तो हम उन्हें पुलिस के सामने पेश कर देंगे. हम पुलिस के साथ पूरा सहयोग करेंगे.

वहीं इससे पहले सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा था कि जीतू फौजी को STF जम्मू कश्मीर से गिरफ्तार कर दिल्ली लाई है. STF कल रात से ही फौजी जीतू से पूछताछ कर रही है. हालांकि, STF गिरफ्तारी के एलान से बच रही थी, वहीं सेना प्रमुख के बयान ने अब ये साफ कर दिया है कि अभी फिलहाल जीतू फौजी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें: एग्जिट पोल में आगे निकली कांग्रेस, शिवराज, राजे, रमन संकट में

वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जीतेंद्र मलिक ने अपनी यूनिट से बताया कि मैं FIR दर्ज करवाने के लिए 30 अन्य लोगों के साथ पुलिस स्टेशन गया था, लेकिन मार पिटाई शुरू हो गई और भाग गया. मैं उस जगह मौजूद नहीं था. जहां पुलिस इंस्पेक्टर को गोली मारी गई.

ये भी पढ़ें: रॉबर्ट वाड्रा के ठिकानों पर ED के छापे, सुरजेवाला ने कहा- माफिया डॉन की तरह काम करे रहे हैं मोदी

वहीं इससे पहले बुलंदशहर में हुई हिंसा में एसआईटी और एसटीएफ की जांच में एक चौकाने वाला खुलासा हुआ था. जांच में पता सामने आया था कि जम्मू में तैनात एक फौजी ने इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मारी थी. फौजी अपने गांव में छुट्टी पर आया हुआ था. इंस्पेक्टर को उसकी अवैध पिस्टल से गोली लगना सामने आया है. वहीं इस घटना के बाद फौजी जम्मू भाग गया. पुलिस को जो वीडियो मिला है, उसमें फौजी गोली चलाता साफ दिख रहा है. वहीं इसके बाद जम्मू में फौजी यूनिट से पुलिस ने बात की और फौजी को गिरफ्तार करने के लिए बुलंदशहर पुलिस की टीम जम्मू के लिए रवाना हुई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here