संदिग्ध परिस्थितियों में जली जूना अखाड़े की साध्वी कोयल की हुई मौत

0

शाहजहांपुर जिले के तिलहर में संदिग्ध हालात में आग से झुलसी साध्वी सीमा वर्मा उर्फ कोयल गिरि ने बरेली के ईशान अस्पताल में अंतिम सांस ली. साध्वी कोयल को 23 नवंबर की यहां भर्ती कराया गया था. उन्होंने घर में आग लगा आत्मदाह की कोशिश की थी. वह गंभीर रूप से झुलस गई थीं.

22 वर्षीय साध्वी कोयल गिरी उर्फ सीमा वर्मा जूना अखाड़े से जुड़ी थी. जनवरी महिने में उन्होंने जूना अखाड़े से सन्यास ले लिया था. साथ ही साध्वी कोयल साल 2012 में तिलहर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव भी लड़ चुकीं हैं.

23 नवंबर को लखनऊ से लौटने के बाद अपने घर पहुंची थी. बताया जा रहा है कि उन्होंने मिट्टी का तेल डालकर खुद को आग लगा ली थी. जिसमें वो काफी झुलस गई थी. घटना के समय उनकी मां पड़ोस में गई हुईं थीं और भाभी घर के दरवाजे पर थी. बताया जाता है कि साध्वी कोयल का 3 बीघा जमीन लो लेकर कुछ व्यवसायियों से विवाद चल रहा है. इस मामले में पुलिस में परिजनों ने तीन नामजग व्यापारी पंकज गुप्ता, सुशील बाबू गुप्ता और अनिल गुप्ता के खिलाफ एफआइआर भी दर्ज करवाई थी.

पुलिस की शुरूआती जांच में सामने आया कि जिन लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज हुई थी वो घटना से एक दिन पहले ही हरिद्वार पहुंचे थे. वहीं यह साबित होने के बाद व्यापारियों ने अपना विरोध भी दर्ज कराया था. साथ ही व्यापारियों ने आरोप लगाया था कि उन्हें जानबूझ कर मुकदमे में झूठा फंसाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here