नहीं सुधर रहे हालात, 2 साल से खुले आसमान के नीचे पढ़ने को मजबूर बच्चे

दरअसल, इस स्कूल के पुराने कमरों को तोड़ कर नयी बिल्डिंग बनायी जा रहा थी. लेकिन बजट के अभाव में बिल्डिंग का निर्माण पूरा नहीं हो पाया. जिसके चलते पिछले दो सालों से बच्चों को खुले आसमान के नीचे पढ़ाई करनी पड़ रही है.

0

टिहरी: टिहरी जिले की प्रतापनगर विधानसभा में आने वाले राजकीय इंटर कॉलेज रमोली के बच्चे खुले आसमान के नीचे पढ़ने को मजबूर हैं. कॉलेज में पर्याप्त कमरों की व्यवस्था ना होने की वजह से स्कूली बच्चों को जहां धूप में बाहर बैठकर पढ़ाई करनी पड़ती है तो वहीं बारिश के समय हालात और भी बदत्तर हो जाते है. जिसके चलते बच्चों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है.

ये भी पढ़ें: विवेक तिवारी केस: पुलिस ने एफआईआर में ही कर दिया ‘खेल’!

दरअसल, इस स्कूल के पुराने कमरों को तोड़ कर नयी बिल्डिंग बनायी जा रहा थी. लेकिन बजट के अभाव में बिल्डिंग का निर्माण पूरा नहीं हो पाया. जिसके चलते पिछले दो सालों से बच्चों को खुले आसमान के नीचे पढ़ाई करनी पड़ रही है. कमरों की व्यवस्था ना होने के कारण कक्षा 6 से कक्षा 12 तक के सभी बच्चे एक साथ बैठकर पढाई करते है. जिससे बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित होती है. इस मामले में स्कूल के प्रधानाचार्य का कहना है कि भवन निर्माण ना होने के कारण पिछले दो सालों से यह समस्या बनी हुई है.

जिसकी वजह से स्कूल में पढ़ने वाले करीब 354 छात्र-छात्राएं खुले आसमान के नीचे पढ़ाई करने को मजबूर है. इतना ही नहीं जिस दिन मौसम खराब होता है उस दिन विद्यालय की छूट्टी करनी पड़ती है. इसके साथ ही विद्यलाय में अध्यापकों का भी टोटा है. प्रधानाचार्य का कहना है कि वो इस समस्या से कई बार आलाअधिकारियों को अवगत करा चुके हैं. लेकिन अभीतक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है. स्कूल की बिल्डिंग की वजह से 354 विद्यार्थियों का भविष्य ख़राब हो रहा है वहीं जिम्मेदार हैं की सब कुछ जान कर भी आँखे मूंदे बैठे हैं.

जिलाधिकारी को इस मामले से अवगत कराया गया तो उनका कहना है कि विद्यालय भवन निर्माण को लेकर अधिकारियों से जानकारी ली जाएगी. वहीं, टीएचडीसी से भी विद्यालय भवन को ठीक कराने के लिए कहा जाएगा. बहरहाल, 2016 से अधूरा निर्माण कार्य छोड़कर जाने वाले ठेकेदार के खिलाफ भी विभाग द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है. जिसका खामियाजा बच्चों को भुगतना पड़ रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here