पीएम मोदी से आगे निकले सीएम योगी आदित्यनाथ, बनाया अद्भुत रिकॉर्ड

0

फायर ब्रांड नेता और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार बीजेपी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं. बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं को भी मालूम है कि योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति से विपक्ष में खलबली मच जाती है. इसीलिए भाजपा के स्टार प्रचारकों में योगी आदित्यनाथ का नाम सबसे ऊपर होता है.

चार राज्यों में जबसे चुनावीं शंखनाद हुआ है तबसे योगी आदित्यनाथ लगातार जनसभाएं कर एक ओर आम जन को साध रहे हैं तो दूसरी ओर विपक्ष को  निशाने पर ले रखा है.

हिंदूत्व छवि

भाजपा योगी के हिंदूत्व छवि को भुनाने के लिए लगातार देश भर के हर हिस्से में उनको चुनाव प्रचार के लिए भेज रही है और इसका फायदा भी पार्टी को मिल रहा है.

ये भी पढ़े – बिचौलिये मिशेल के प्रत्यर्पण के बाद माल्या के उड़े होश, बैंकों को मूलधन लौटाने का दिया ऑफर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मोदी की विकास यात्रा और हिंदूत्व के मुद्दे पर बेबाकी से बोलते हुए विपक्ष को नतमस्तक कर देते हैं. योगी आदित्यनाथ 4 राज्यों में करीब तीन हफ्ते के दौरान 6 दर्जन से अधिक जनसभाएं कर चुके हैं.

बिना थके की जनसभाएं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 23 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ के राजनंदगांव से मुख्यमंत्री रमन सिंह के नामांकन के साथ शुरू जनसभाओं का सिलसिला मध्यप्रदेश और राजस्थान होते हुए पांच दिसंबर को तेलंगाना की सभाओं के साथ समाप्त होगा. 10 नवंबर के बाद से कुछ ही दिन योगी पूरे समय तक लखनऊ में रहे होंगे.

इस दौरान उनका समय या तो चुनाव वालें प्रदेशों में गुजरा या वाराणसी, अयोध्या, गोरखपुर, हापुड़, उत्तराखंड में आयोजित कार्यक्रमों में.

अली और बजरंगबली

योगी ने जिन राज्यों में सभाओं को संबोधित किया उसमें उनका जादू कितना चला इसका पता तो नतीजा आने के बाद चलेगा. लेकिन योगी आदित्यनाथ अपनी सभाओँ में विपक्ष पर जोरदार हमले और अयोध्या, राम और हनुमान जी की चर्चा कर खूब सुर्खियों में रहे.

ये भी पढ़े – बुलंदशहर हिंसा को लेकर आधी रात तक सीएम योगी ने की कानून व्यवस्था की समीक्षा, दिये ये निर्देश

शुरुआत 23 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ में तभी से हो गयी थी जब वहां के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने नामांकन के पहले योगी का पैर छूकर आशीर्वाद लिया.

मध्य प्रदेश में कमलनाथ के बयान पर ‘अली और बजरंगबली’ के सहारे किया गया पलटवार, इंदौर के महू में अचानक डा. अंबेडकर की जन्मभूमि पर पहुंचकर उनको श्रद्धासुमन अर्पित कर उन्होंने दलित समाज को भी संदेश देने का काम किया था.

साउथ में छा गए

तेलंगाना में योगी आदित्यनाथ ने ओवैसी पर हमला कर पहले दिन ही तेलंगाना के लोगों का ध्यान खींच लिया. तेलंगाना में जहां भाजपा का खास प्रभाव नहीं है, वहां भी पहले दिन के दौरे में ओवैसी पर हमला बोलकर योगी हिट हो गये. अपनी जनसभा में योगी ने कहा था कि ‘अगर तेलंगाना में भाजपा सत्ता में आयी तो निजाम की तरह ओवैसी को भी भागना होगा’. ओवैसी बंधुओं की ओर से इसकी करारी प्रतिक्रिया जतायी गयी. इस पर भी योगी पलटवार करने से नहीं चुके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here