अगस्ता वेस्टलैंड मामले में भारत को बड़ी कामयाबी, दिल्ली लाया जाएगा बिचौलिया ‘मिशेल’

0

सीबीआई (CBI) को वीवीआईपी चॉपर अगस्ता वेस्टलैंड डील की जांच में बड़ी कामयाबी मिली है. लंबी कोशिशों के बाद आखिरकार इस डील के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल का भारत आना तय हो गया है.

दुबई जेल में बंद मिशेल प्रत्यर्पण के तहत आज भारत पहुंच जाएगा, वह दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से रवाना हो चुका है. दिल्ली लाए जाने के बाद उसे सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: पाक में तबाही मचाने का हर साल जश्न मनाती है हिन्दुस्तान की नेवी

कुछ अन्य मामलों में दुबई की जेल में बंद मिशेल के भारत प्रत्यर्पण पर सुनवाई करते हुए पिछले महीने ही दुबई की अदालत ने निचली अदालत का फैसला बरकरार रखते हुए ये माना जा रहा था कि मिशेल का भारत प्रत्यर्पण किया जा सकता है. कोर्ट ने मिशेल के वकीलों की गुहार खारिज करते हुए ये आदेश दिया था. जिसके बाद अब उसे भारत लाया जा रहा है, जहां उससे चॉपर डील के संबंध में पूछताछ की जाएगी.

मिली बड़ी कामयाबी

भारत के लिहाज से यह एक बड़ी कामयाबी है, क्योंकि 3600 करोड़ के अगस्ता वेस्टलैंड सौदे में देश के शीर्ष राजनीतिक नेतृत्व पर सवाल उठते रहे हैं. खासतौर पर कांग्रेस की सीनियर लीडरशिप पर आरोप लगते रहे हैं. हालांकि, क्रिश्चियन मिशेल हर फोरम पर चॉपर डील में कांग्रेस नेतृत्व के शामिल होने की बात खारिज करता रहा है.

ये भी पढ़ें: इसलिए इन 5 राज्यों के लोगों पर पड़ेगी महंगे बिजली बिल की मार

इंटरव्यू में बोला

एक न्यूज चैनल को दिये इंटरव्यू में भी उसने अपने पिछले बयान पर कायम रहते हुए कहा था कि इस डील में यूपीए सरकार की लीडरशिप शामिल नहीं थी. मिशेल ने ये भी बताया था कि उसे एक डील साइन करने के लिए कहा गया था जिसमें कांग्रेस नेतृत्व के खिलाफ बातें थीं,  लेकिन उसने इस डील को ठुकरा दिया.

ये भी पढ़ें: दिल्ली के शेल्टर होम से गायब हुई 9 लड़कियां, केस दर्ज

ये हैं दो और बिचौलिए

आपको बता दें कि, सीबीआई और ईडी द्वारा जांच किए जा रहे मामलों में गुइदो हाश्के और कार्लो गेरोसा के अलावा मिशेल तीसरा कथित बिचौलिया है. अदालत द्वारा उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने के बाद दोनों जांच एजेंसियों ने उसके खिलाफ इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here