लाखों की बकायेदारी पर काटी गई सैफई हवाई पट्टी की बिजली

0

समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव के गांव सैफई में हवाई पट्टी की बिजली काट दी गई है. सैफई पट्टी पर लाखों रुपये का बकाया है जिसके चलते दक्षिणांचल विद्युत कारपोरेशन के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है. बिजली कटने के बाद अब जिला प्रशासन उसे वापस जुड़वानें की कवायद में लग गया है.

सैफई स्थित पावर कारपोरेशन के अधिशासी अभियंता झब्बूराम गौतम ने बताया कि कई सालों से बिजली बिल बकाया था. जिसके बाद बिजली काटी गई है. उन्होंने बताया कि इससे पहले कई बार बिल समय से जमा करने को कहा गया जिसपर कोई ध्यान नहीं दिया गया. इसके बाद शासन से मिल रहे निर्देशों के बाद विभाग ने बिजली काटने का निर्णय लिया है.

साल 2006 से ही बिजली बिल की बकायेदारी चल रही है. ऐसा नहीं है कि बिजली बिल जमा नहीं कराया जा रहा था. मार्च महिने में हर बार करीब 10 लाख का बिल जमा कराया जाता था. लेकिन साल का बिल उससे ज्यादा होता था. जो बकाया होतो होते अब 85 लाख का पहुंच गया है. नवबंर माह तक हवाई पट्टी पर 85 लाख 35 हजार का बकाया था. अखिलेश यादव के शासन काल में अधिकारीयो की बिजली काटने की हिम्मत नहीं होती थी.

ये भी पढ़े : बीजेपी का सबसे बड़ा दोस्त बनने की होड़ में शिवपाल और राजा भइया, कौन पड़ेगा भारी

हवाई पट्टी के नोडल अधिकारी हेम सिंह ने बताया कि उनके पास अभी 50 हजार रूपय है. जिसे जमा कराकर प्रशासन से बिजली जोड़ने का अनुरोध किया जाएगा. इस हवाई पट्टी पर कुल 13 लोग काम करते है. जिसमें पांच पुलिस के जवान है और आठ अन्य कर्मचारी है. इस हवाई पट्टी पर नाइट में लैंडिंग की सुविधा नहीं है. लेकिन गेस्ट हाउस में बिजली न होने के कारण वहां पर कोई वीआइपी नहीं रूक पाएंगे.

इस हवाई पट्टी को सेना आपात स्थिती में लड़ाकू विमान की लैडिंग के लिए सबसे सुरक्षित मान चुकी है. साथ ही साल 2014 मे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब मैनपुरी के सांसद तेजप्रताप सिंह यादव की शादी में शामिल होने आए थे तो इसी हवाई पट्टी पर उतरे थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here