राजा भैया का बीजेपी पर हमला, एससी/एसटी एक्ट बनाने से बढ़ीं समाज में दूरियां

0

लखनऊ: निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने शुक्रवार को लखनऊ के रमाबाई मैदान में रैली अपनी ताकत दिखाई। उनकी रैली में हजारों की भीड़ देखने को मिली। जिससे रघुराज बेहद गदगद नजर आए। वहीं रघुराज के समर्थकों ने इस रैली को ‘राजा भैया रजत जयंती अभिनंदन समारोह’ का नाम दिया।

इस दौरान राजा भैया ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश ही नहीं देश और नेपाल तक से लोग आए हैं। पार्टी बनाने से पहले 20 लाख लोगों में सर्वे हुआ। जिसके बाद हमने पार्टी बनाने का निर्णय लिया। हमने चुनाव आयोग को पार्टी रजिस्ट्रेशन के लिये निवेदन किया है। पार्टी के तीन नाम दिये गये है नाम रजिस्टर्ड होने के बाद पार्टी अपना मैनीफेस्टो बनाएगी।

राजा भैया का भाजपा सरकार पर हमला

राजा भैया ने इस दौरान बिना नाम लिए बीजेपी की प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी पार्टी की सरकार होगी, तो एक सप्ताह में किसानों को भुगतान होगा। देश सुरक्षित है तो उसका श्रेय सेना के जवानों को जाता है। युद्ध समाप्त होने के बाद सीमा पर शहीदों को सुविधाएं नहीं मिलती। अपनी पार्टी कोई भेदभाव नहीं करेगी हम एक करोड़ की सहायता राशि जवानों को देंगे।

ये भी पढ़ेः राजनीति के राजा भइया बनने चले रघु‘राज’

जाति देखकर दिया जा रहा है मुआवजा

इसके साथ ही जातिगत राजनीति पर राजा ने कहा कि आज मुआवजा जाति देखकर दिया जा रहा है। सिर्फ दलित को ही कष्ट या उत्पीड़न नहीं होता। सबको बराबर सुविधा और सुरक्षा मिलनी चाहिए। हमारी पार्टी दलित विरोधी नहीं है, एससीएसटी एक्ट पर बोलते हुए राजा भइया ने कहा कि इस एक्ट पर सारे राजनैतिक दल बोलने से कतराते हैं। भारत के सारे राजनैतिक दल किसी एक मुद्दे पर एकजुट हुये तो वो है एससीएसटी एक्ट।

ये भी पढ़ेः अब मायावती को पीएम बनाएगा उनका ये ‘बेटा’

दलित संगठनों ने नहीं की थी मांग

सबने मिलकर इसे गैरजमानती बना दिया है। संविधान में समानता की बात को ख़त्म किया गया है। क्या देश मे अब जाति देखकर उत्पीड़न का मुआवजा दिया जायेगा। जबकि भारत के किसी दलित संगठन ने एक्ट को जटिल करने की मांग नहीं की थी। लेकिन राजनैतिक दलों ने समाज मे फूट डालने के लिये इसे कठिन बना दिया। आरक्षण को आम गरीब और दलित तक पहुंचाया जाए। अब समाज में असमानता की बात फैलाई जा रही थी। तब किसी दल को उम्मीद नही थी कि हम अधिकारों के लिये खड़े होंगे।

ये भी पढ़ेः ‘शीतकालीन सत्र में नहीं आएगा राम मंदिर पर कानून, सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार’

राजा भैया ने मैदान में पहुंचकर एक बार फिर आर्थिक आधार पर आरक्षण देने की बात को दोहराया। वहीं समर्थकों की भारी भीड़ देखकर राजा भैया गदगद नजर आए।

विशेष ट्रेन बुक

वहीं राजा भैया के समर्थक शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि इस कार्यक्रम में राजा भैया के गृह जिले प्रतापगढ़ के अलावा प्रदेश के सभी जिलों से लोग आए हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि प्रतापगढ़ के लोगों के लिए एक विशेष ट्रेन बुक कराई गई थी… जो कि  सुबह लखनऊ पहुंची. वहीं उनका दावा है कि इस कार्यक्रम में लाख लोगों की भीड़ जुटी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here